बहुत हुई बकैती, जानिए कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा

बाहुबली 2 का ट्रेलर आ गया है. जनता का उत्साह बढ़ गया है. फिल्म आनी है लेकिन एक सवाल अब भी है. पिछले साल का सबसे बड़ा सवाल.

2016 का सबसे बड़ा सवाल था कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा. लाखों बार पूछा गया. हजारों जवाब आए. मजाक बने. चुटकुलेबाजी हुई. पर असलियत ये कि जवाब किसी को अब तक पता नहीं. बाहुबली की मौत को हल्के में न लीजिए. ऐसा राजा जो जनता के लिए जान लगा दे. उसकी मौत की वजह तो जाननी बनती है. बनती है कि नहीं? तो बकैती छोड़िए यहां ध्यान लगाइए.

महिष्मति के खिलाफ खड़ा हो गया था बाहुबली

कहानी पल्टी मार चुकी थी. भल्लाल देव राजा हो पड़े. बाहुबली उनके अंडर. राजा का हुक्म मानना पड़ता था. भल्लाल ने एक दिन बेवजह पड़ोसी राज्य पर कर दिया हमला. औरतें-बच्चे-बूढ़े मारे जा रहे थे. बाहुबली से देखा न गया. अत्याचार के खिलाफ खड़े हो गए. महिष्मति के खिलाफ खड़े हो गए. सामने कटप्पा था. बाकी जो हुआ कहानियों में है.

कटप्पा से गलती से मिस्टेक हो गया

बाहुबली का मरना देखिए. तलवार पीछे से भोंकी गई थी. जंग का मैदान था. कटप्पा किसी और को मारने जा रहा था. बीच में किसी ने उलझा दिया. पीछे से पता कहां चलता है. भोंक दिहिस तलवार बाहुबली के करेजा में. एक गलती से बाहुबली सुलट गया.

कटप्पा ने बाहुबली को मारा ही नहीं

देवसेना से भल्लालदेव कहता है. “हम दोनों चाहते हैं बाहुबली लौट आए. ताकि तुम उसे एक आखिरी बार देख पाओ और मैं एक बार फिर उसे ‘अपने’ हाथ से मार सकूं.” ‘अपने हाथ से’ समझे कि नहीं? समझ लीजिए. कटप्पा ने बाहुबली को मारा ही नही था. भल्लाल ने मारा था.

अब वो जो आप पढ़ना चाहते हैं! ?

हमको पता है गुरु. आप मजे लेने आए हो. भरोसा नहीं हो रहा हमारी बात पर. मौज लेना चाहते हो. तो लो मौज.

ओबीसी का दर्जा नहीं दे रहा था बाहुबली

गुर्जर,जाट और हार्दिक पटेल. हर जगह आरक्षण का जोर है. कटप्पा छोटी जाति का था. कहानी के बीच कई बार खुद उसने कहा है. बाहुबली भले कटप्पा की थाली में खाना खा लेता था पर उसे ओबीसी का दर्ज़ा नहीं दे रहा था. एक तो आरक्षण न दिया ऊपर से पतरी पर के बाघ हो गए. खिसियाए गा कटप्पा एक रोज निपोर दिहिस.

एल जी ने कहा था

केजरीवाल से जब ये सवाल किया गया तो सपाट सा जवाब आया. अच्छे लोगों को काम कहां करने दिया जाता है. दिल्ली के एलजी को बाहुबली पसंद नहीं आता था. उन्हीं के कहने पर कटप्पा ने मार दिया बाहुबली को.

OROP का वादा कर मुकर गया था बाहुबली

बाहुबली भी लड़ता था. कटप्पा भी लड़ता था. भल्लाल भी लड़ता था. टेक्निकली तीनों थे तो सिपाही ही. बाहुबली ने वन रैंक वन पेंशन का वादा कर रखा था. वो कटप्पा की जिंदगी की आखिरी लड़ाई थी. उसके बाद कटप्पा वीआरएस लेने वाला था. लड़ाई के बीच में उसे पता चला बाहुबली फेंकू है. उसने बस जुमला उछाला है. बुढ़ौती के दुखों का डर कटप्पा को हिला गया. मार दिया वहीं पर बाहुबली को.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *