भारत की पहली फिल्म जिसने कमाए एक करोड़ रुपये ….कोन थी वह फिल्म

भारत में फिल्मों की शुरुआत 1913 में हुई थी और पहली फिल्म बनी थी- “राजा हरिश्चंद्र” जिस फिल्म में आवाज नहीं थी. सिर्फ इशारों से ही बात हुई थी, इस फिल्म के बनने के बाद भारत के सिनेमा जगत की दिशा ही परिवर्तित हो गयी, इसके बाद बहुत सी फिल्मों का निर्माण हुआ.

1) पहली बोलने वाली फिल्म

भारत की पहली बोलने वाली फिल्म का नाम था- “आलमआरा” जो 1931 में बनी थी. यह भारत की पहली बोलती फिल्म है, इस फिल्म की ज्यादातर शूटिंग रात को की जाती थी क्यूंकि दिन में काफी शोर होता था जिससे फिल्म की आवाज में काफी दिक्कत आती थी.

2) वह फिल्म जिसने की थी एक करोड़ की कमाई

भारत में एक करोड़ की कमाई करने वाली पहली फिल्मों की लिस्ट में जिसका नाम है वो है 1943 में बनी “किस्मत” इस फिल्म ने पहली बार एक करोड़ की कमाई की थी और ये कमाई किस वजह से हुई थी उसका भी कारण है. यह फिल्म 1931 में बनी उस वक्त जब सम्पूर्ण भारत आजादी की लडाई के लिए लड़ रहा था.और इस फिल्म की कहानी में देश भक्ति की भावना थी और इस वक्त लोग देश भक्ति की भावना से ओत प्रोत थे ,भारत छोड़ो जैसे आन्दोलन चल रहे थे. इस फिल्म में अशोक कुमार और मुमताज ने काम किया था.

यह फिल्म कलकत्ता के सिनेमा हॉल में 186 हप्तों तक चली जिस सिनेमा हॉल में यह फिल्म लगी थी उसका नाम “रॉक्सी” था, बाद में इस फिल्म का रिकॉर्ड शोले ने तोडा था.

3) प्रथम रंगीन फिल्म

भारत की पहली कलर फिल्म थी किसान कन्या इस से पहले भी कुछ फिल्म बनी थी लेकिन इस फिल्म पर पूरी तरह भारत में ही काम हुआ था. इसके बाद टेक्नोलॉजी का आयत हुआ और राह और भी आसान हुई, इस से पहले जो फ़िल्में बनती थी वो मूक हुआ करती थी. तब न तो कोई कलर रील हुआ करती थी न ही कुछ और बस अगर कोई कलर उपयोग होता था तो उसको हाथ से कलर किया जाता था.

MUKHERJEE

4) पहली बार प्लेबैक सिंगिंग

पहली फिल्म जिसमें गाना गाया गया था वो थी “धूप छांव “ यह फिल्म एक बंगाली फिल्म का रिमेक थी. इस से पहले भी यह कोशिश की गयी थी लेकिन इस फिल्म में सिस्टमेटिक वर्क हुआ था. और जिसकी वजह से सिंगर का फिल्मों में आना सफल हुआ.

5) प्रथम लेडीज डायरेक्टर

भारत की पहली महिला जिन्होंने निर्माता और निर्देशक का काम किया वो थी फातमा बेगम , फातमा बेगम स्टेज एक्टिंग भी करती थी. और अधिकतर मूक फ़िल्में ही बनाया करती थी. इनकी बेटी भी स्टार थी जिसने आलमआरा में काम किया था उनका नाम था जुबेदा.

6) लिप-लॉक सीन्स वाली फिल्म

भारत में लिप लॉक सीन्स वाली फिल्मों का निर्माण 1930 के दशक में शुरू हुआ.पहली बार ऐसी फिल्म आई जिसमें किसी को kiss करते हुए दिखाया गया था. देविका रानी और हिमाशु राय की एक भारत में बनी अंग्रेजी फिल्म थी “करमा” जिसको बाद में हिंदी में “नागिन की रागिनी” के नाम से रिलीज़ किया गया था जिसमे ऐसे सीन्स दिए गए, ऐसी ही कुछ फिल्मे और आई और आज आती जा रही हैं

7) ‘करमा’ भारत की पहली फ़िल्म थी जिसकी शूटिंग के लिए लोग पहली बार भारत से बाहर लंदन गए. इसके सालों बाद आई राजकपूर की ‘संगम’ फ़िल्म भी बाहर ही शूट हुई.

 

8) बैन लगने वाली पहली फिल्म

1921 में एक फिल्म आई थी जिका नाम था “भक्त विदुर” लेकिन इस फिल्म को अंग्रेजों ने बैन कर दिया वो इसलिए की इस फिल्म का किरदार गाँधी जी से मिलता जुलता था और काफी कुछ समान था और अंग्रेज ऐसी फिल्मों के विरोधी थ, इस फिल्म में मुख्या किरदार ने गाँधी जी की टोपी पहनी थी.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *