आईपीएल: गूगल प्ले स्टोर ने सट्टा चला रहीं छह गेम्स साइटों को प्रतिबंधित कर दिया है।

ऑनलाइन सट्टा लगा रहे सटोरियों को चेताने वाली खबर है। गूगल प्ले स्टोर ने सट्टा चला रहीं छह गेम्स साइटों को प्रतिबंधित कर दिया है। सभी गेम लिंक की एप्लीकेशन को भी प्ले स्टोर से हटा दिया गया है।

दरअसल, आईपीएल टी-20 क्रिकेट मैच शुरू होते ही इंटरनेट पर ऑनलाइन सट्टा शुरू हो जाता है। गूगल प्ले स्टोर पर ड्रीम इलेवन समेत कई साइटों पर आजकल 10 से लेकर 20 हजार तक सट्टा लगाया जा रहा है। पेटीएम या गूगल पे से मनी ट्रांसफर कर लोगों को 11 सदस्यों की एक टीम बनानी होती है।
इसके लिए एक अंक से लेकर 800 प्वाइंट दिए जाते हैं। सर्वाधिक विकेट या सर्वाधिक रन बनाने के आधार पर विजेता घोषित किए जाते हैं। कम अंक मिलने पर युवकों को हजारों रुपये का नुकसान झेलना पड़ता है।
उत्तराखंड के हल्द्वानी निवासी साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट विकास सिंह बिष्ट ने बताया कि ऑनलाइन सट्टा चला रहीं छह गेम्स साइटों को गूगल प्ले स्टोर ने प्रतिबंधित कर दिया है, जिसमें पेटीएम फर्स्ट गेम्स, वेट-वे, कमोन, कैसियो, वन एक्स बीट व प्लेयर जेड पोट साइटें शामिल हैं। उन्होंने बताया कि सभी साइटों को सर्च करने पर भी यह गूगल प्ले स्टोर में नहीं मिल रही हैं। सट्टे को रोकने के लिए गूगल प्ले ने यह निर्णय लिया है। 

ड्रीम इलेवन को भी गूगल प्ले से किया बाहर:
साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट विकास सिंह बिष्ट ने बताया कि 10 क्रिक गेम्स साइट को कुछ समय पहले बंद कर दिया था लेकिन इसे दोबारा से शुरू कर दिया है। ड्रीम इलेवन आईपीएल का सबसे बड़ा स्पांसर है इसे भी हटा दिया है। इसका सीधा लिंक पेटीएम से था।

बताया कि पेटीएम के हटते ही ड्रीम इलेवन हट गया है। कुछ समय बाद ये साइट बंद हो सकती है। उन्होंने बताया कि जो ड्रीम इलेवन इस समय चल रहा है वह पूर्व के लिंक के आधार पर है।  

गूगल प्ले में चल रहे गेम्स साइटों का साइबर सेल से ज्यादा लेना देना नहीं है। आईपीएल में सट्टे का प्रयोग इसके लिए किया जाता है। कुछ साइटों को गूगल प्ले स्टोर ने इन दिनों बेन कर दिया है। इसकी जानकारी मिली है। 
-हिमांशु पंत, साइबर सेल प्रभारी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *