CM की घोषणा वाली सड़कों पर हो रहा है तेजी से अमल।

चुनावी साल में सत्तारूढ़ भाजपा के विधायकों को सबसे अधिक चिंता अपने चुनाव क्षेत्र की सड़कों व पुलों की है। इनमें भी उनका सबसे अधिक फोकस उन सड़कों पर है, जिनकी घोषणा मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने की है। लोक निर्माण विभाग के तहत 70 विधानसभा क्षेत्रों में ऐसी करीब 757 घोषणाएं मुख्यमंत्री अब तक कर चुके हैं।

इनमें से 615 सड़कों को पहले और दूसरे चरण की मंजूरी मिल चुकी है। अभी तक 263 घोषणाएं ही भौतिक रूप से धरातल पर उतरी हैं। कोविड-19 महामारी का असर मुख्यमंत्री की बाकी घोषणाओं पर भी पड़ा।

यही वजह है कि बाकी घोषणाओं पर तेजी से कार्रवाई कराने के लिए इन दिनों विधायकों ने दौड़-धूप तेज कर दी है। वे चाह रहे हैं कि कम से कम चुनावी साल में मुख्यमंत्री की घोषणा वाली सड़कों पर काम पूरा शुरू हो जाए।  

191 घोषणाएं अभी पहले चरण में

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री की 191 घोषणाएं अभी पहले चरण की प्रक्रिया में हैं। इनमें सर्वेक्षण, भूमि अधिग्रहण व डीपीआर तैयार करने का कार्य हो रहा है। इनमें से 46 घोषणाएं ऐसी हैं जिनमें तकनीकी मंजूरी, निविदा, अनुबंध गठन का कार्य होना है। 191 घोषणाओं के तहत 214 कार्य होने हैं।

आंकड़ों में एक नजर

757 घोषणाएं कर चुके हैं मुख्यमंत्री
615 घोषणाओं पर मंजूरी जारी हुई
424 घोषणाओं पर दूसरे चरण की मंजूरी
191 घोषणाओं को पहले चरण की मंजूरी
757 घोषणाओं के तहत 873 कार्य होने हैं
मुख्यमंत्री ने लोक निर्माण विभाग के तहत जो 757 घोषणाएं की हैं, इनमें करीब 873 कार्य होने हैं। शासन ने इनमें से 615 घोषणाओं के तहत 701 कार्यों को अपनी स्वीकृति दे दी है। स्वीकृति के साथ बजटीय प्रावधान भी कर दिया गया है।

राज्य सेक्टर से जारी होगा बजट

मुख्यमंत्री की घोषणा वाली सड़कों के लिए राज्य सेक्टर के तहत बजट जारी होगा। हाल ही में शासन स्तर से लोनिवि को राज्य सेक्टर में 100 करोड़ की धनराशि जारी की गई है। अनुपूरक बजट में भी सड़कों और पुलों के निर्माण के लिए अलग से बजट का प्रावधान किया है। धनराशि जारी होने के साथ ही विधायकों ने अपने अपने क्षेत्र की सड़कों के लिए बजट जारी कराने के लिए प्रयास तेज कर दिए हैं।

जिलावार ब्योरा –     कुल कार्य  –  भौतिक रूप से पूर्ण   
उत्तरकाशी      –  81    –     15
टिहरी        –    88  –     13 
चमोली      –    57      –    07
रुद्रप्रयाग        –  09      –    0
पौड़ी           –    71    –    17
देहरादून        –   133       –   60
हरिद्वार      –   129      –    88
पिथौरागढ़       –    49     –     15
चंपावत          –   15   –      0
 बागेश्वर        –   18     –      03
अल्मोड़ा         –   85     –      19
नैनीताल         –   46  –        21
यूएसनगर       –   92      –     28
कुल योग         –  873        –    286

मुख्यमंत्री की घोषणा के मामले में लोक निर्माण विभाग की 80 प्रतिशत से अधिक प्रगति है। सड़कों के प्रस्तावों पर तेजी से अमल हुआ है। विभाग को मुख्यमंत्री व विधानसभा सदस्यों की प्राथमिकता वाले प्रस्तावों पर समयबद्ध ढंग से काम करने के निर्देश दिए गए हैं। इस वित्तीय वर्ष में अधिक से अधिक सड़कों के कार्यों को पूरा कर लिया जाएगा। – आरके सुधांशु, सचिव, लोनिवि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *