उत्तराखंड में इस बार दीपावली पर चाइनीज या अन्य देशों से आयातित पटाखों की बिक्री नहीं होगी।

उत्तराखंड में इस बार दीपावली पर चाइनीज या अन्य देशों से आयातित पटाखों की बिक्री नहीं होगी। पिछले कई सालों से पटाखों के आयात लाइसेंस पर प्रतिबंध होने के बावजूद दीपावली पर बाजारों में चाइनीज पटाखे खूब बिकते हैं।

इस पर केंद्र ने आयातित पटाखों की बिक्री रोकने के लिए राज्यों को सख्त कदम उठाने के दिशानिर्देश दिए हैं। शीघ्र ही सरकार की ओर से जिलाधिकारियों को पटाखों के आयात और बिक्री रोकने के लिए निर्देश जारी किए जाएंगे। 

केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से इस बार चोरी छिपे हो रहे पटाखों के आयात और बिक्री को रोकने के लिए राज्यों को सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। कोई भी व्यापारी बिना लाइसेंस के न तो पटाखों का स्टॉक रख सकेगा और न ही बेच सकेगा। देश में बनने वाले पटाखों को ही बेचने की अनुमति है। 

डीएम के माध्यम से जारी किए जाते हैं लाइसेंस:
पटाखों की बिक्री के लिए डीएम के माध्यम से अस्थायी लाइसेंस जारी किए जाते हैं। वहीं, भीड़भाड़ वाले स्थानों पर पटाखों की बिक्री को प्रतिबंधित कर पटाखा कारोबार के लिए एक निश्चित स्थान तय किया जाता है।

इस बार यदि किसी दुकान पर चाइनीज पटाखे बेचते जाते हैं तो विक्रेता को यह बताना होगा कि पटाखे कहां से खरीदे हैं। इससे आयातित पटाखों का अवैध कारोबार करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *