UP OR UTTRAKHAND में भाजपा की जीत के राज्यसभा के लिए क्या मायने?

उत्तर प्रदेश में प्रचंड जीत हासिल करने वाली भाजपा 15 साल बाद भाजपा सरकार बनाने जा रही है, वहीं उत्तराखंड में भी उसे जीत मिली है। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में जीत से केंद्र की मोदी सरकार को भी बड़ा फायदा होने जा रहा है। इसकी वजह है इससे राज्यसभा में बढ़ने वाली भाजपा की ताकत, जहां अल्पमत की वजह से भाजपा को काफी परेशानी उठानी पड़ती है।
राज्यसभा में 250 में से 74 मेंबर एनडीए के हैं। भाजपा के पास राज्यसभा की 56 सीट हैं जबकि कांग्रेस के पास 59 मेंबर हैं। भाजपा को राज्यसभा में बहुमत ना होने के चलते कई दफा परेशानी का सामना करना पड़ता है। लेकिन इन चुनावों के बाद राज्यसभा के हालात बदल जाएंगे। उत्तर प्रदेश के 10 राज्यसभा मेंबर 2018 में रिटायर हो जाएंगे, इनमें बसपा सुप्रीमो मायावती भी शामिल हैं। जबकि गोवा और उत्तराखंड से भी एक-एक मेंबर अगले साल राज्यसभा के लिए चुना जाएगा। इन चुनावो में बसपा की बुरी गत के बाद मायावती की राज्यसभा में वापसी मुश्किल लग रही है। ऐसे में अगले साल भाजपा को राज्यसभा की ये 12 सीटें मिल सकती हैं। जिसके बाद भाजपा राज्यसभा में सबसे बड़ा दल बन जाएगा। इस समय राज्यसभा में कांग्रेस के 59, भाजपा के 56, समाजवादी पार्टी के 18, अन्नाद्रमुक के 13, टीएमसी के 11, जनता दल (यू) के 10, तेदेपा के 6, बसपा के 6 और एनसीपी के 5 मेंबर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *