इग्नू ने एडमिशन में दस्तावेज की अनिवार्यता को फिलहाल खत्म कर दिया है।

तमाम संस्थानों में अब कंपार्टमेंट या इंप्रूवमेंट परीक्षा पास कर चुके छात्रों के लिए भले ही दाखिले का अवसर न बचा हो, लेकिन इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय ने इस दिशा में राहत दी है। इग्नू ने एडमिशन में दस्तावेज की अनिवार्यता को फिलहाल खत्म कर दिया है।

इन दिनों इग्नू में विभिन्न पाठ्यक्रमों में दाखिला प्रक्रिया चल रही है। दाखिलों के लिए 15 अक्तूबर अंतिम तिथि तय की गई है। इस बीच कोरोना की वजह से तमाम बोर्ड और विवि की परीक्षाएं समय से नहीं हुईं। कई बोर्ड की कंपार्टमेंट के रिजल्ट आने बाकी हैं तो तमाम विवि में अंतिम वर्ष के रिजल्ट आने बाकी हैं। ऐसे में छात्रों को दाखिले के दौरान पासिंग सर्टिफिकेट दिखाने की अनिवार्यता से छूट दे दी गई है। इग्नू की ओर से जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक ऐसे आवेदकों को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार राहत प्रदान करने के लिए, इग्नू कुछ शर्तों के तहत इच्छुक छात्रों को प्रोविजनल एडमिशन देगा। अंडरग्रेजुएट (यूजी) कोर्सेज के लिए, छात्रों को उन दस्तावेज को प्रस्तुत करना होगा, जो उन्हें 12वीं परीक्षा में पास बता सकें। पोस्ट ग्रेजुएट (पीजी) कोर्सेस के लिए, कैंडिडेट को बैचलर डिग्री के दूसरे साल/5वें सेमेस्टर पास होने का प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होगा। प्रोविजनल एडमिशन के इच्छुक छात्र को 31 दिसंबर तक इन दस्तावेजों को जमा करा सकते हैं। फिलहाल ऐसे सभी छात्रों के दाखिले प्रोविजनल माने जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *