उत्तराखंड में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 58 हजार पार हो गया।

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 58 हजार पार हो गया है। बीते 24 घंटे में तीन मरीजों की मौत हुई और 376 नए संक्रमित मिले हैं।  स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार रविवार को 9527 सैंपल जांच में निगेटिव मिले हैं।

जबकि 376 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। इन्हें मिला कर प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 58024 हो गई है। इसमें ठीक होने वाले मरीजों का आंकड़ा 50982 है। वहीं, सक्रिय मरीजों की संख्या 5728 है। 

देहरादून जिले में सबसे अधिक 128 कोरोना मरीज मिले हैं। पौड़ी में 42, नैनीताल में 34, टिहरी में 31, चमोली में 29, हरिद्वार में 28, ऊधमसिंह नगर में 22, चंपावत में 16, उत्तरकाशी में 13, बागेश्वर में 11, रुद्रप्रयाग में 10, पिथौरागढ़ में आठ और अल्मोड़ा जिले में चार कोरोना संक्रमित मामले मिले हैं। 

प्रदेेश में 24 घंटे में तीन कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई है। इसमें महंत इंद्रेश हॉस्पिटल में एक, हिमालयन हॉस्पिटल में एक और सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में एक मरीज ने दम तोड़ा है। कुल मरने वालों की संख्या 927 हो गई है। 

कोविड जांच बढ़ी संक्रमित मामलों में आई कमी:
प्रदेश में जहां कोरोना की सैंपल जांच बढ़ी है वहीं संक्रमित के मामले घट गए हैं। बीते एक सप्ताह में 76 हजार से अधिक लोगों की जांच की गई, जिनमें से 3123 लोग संक्रमित मिले हैं। वहीं, दूसरी ओर पिछले सप्ताह की तुलना में मौत का आंकड़ा बढ़ा है, बीते दिनों हुईं 89 मौतों को मिलाने पर सात दिन में मौतों का आंकड़ा 190 बढ़ गया है।

प्रदेश में कोरोना काल को 217 दिन यानी 31 सप्ताह बीत गए हैं। 11 से 17 अक्तूबर तक 31 वें सप्ताह में जांच बढ़ी है। 30वें सप्ताह में 4463 लोग संक्रमित मिले हैं। उधर, पिछले सप्ताह की तुलना में रिकवरी दर में कमी आई है। पिछले सप्ताह 5091 मरीज ठीक हुए थे, वहीं 31वें सप्ताह में 4634 मरीज ठीक हुए हैं। सैंपल जांच के आधार पर संक्रमण दर 4.07 प्रतिशत रही है। 

कोरोना आंकड़ों का अध्ययन कर रहे सोशल डवलपमेंट फॉर कम्युनिटी फाउंउेशन के संस्थापक अनूप नौटियाल का कहना है कि एक अगस्त के बाद साप्ताहिक संक्रमण दर सबसे कम 4.07 प्रतिशत रही है। सैंपल जांच बढ़ने के साथ संक्रमित मामलों में कमी आई है। त्योहारी सीजन में संक्रमण को लेकर और सतर्क रहने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *