ISIS के खिलाफ ट्रंप अटैक, अफगानिस्तान में गिराया 10 हजार किलो का बम

अमेरिका ने पूर्वी अफगानिस्तान के नंगारहर में अपने सबसे बड़ा गैर परमाणु बम ‘GBU-43’ गिराया है. करीब 21,000 पाउंड (9,797 किलो) वजनी इस बम को वहां ‘मदर ऑफ ऑल बॉम्ब’ के नाम से जाना जाता है. 

अमेरिकी सेना के मुताबिक, स्थानीय समय के अनुसार शाम 7.32 बजे गिराए इस सबसे बड़े गैर परमाणु बम के जरिये उन गुफाओं को निशाना बनाया गया, जहां इस्लामिक स्टेट के आतंकियों ने पनाह ले रखी थी.

मार्च 2003 में इराक युद्ध शुरू होने से पहले जीपीएस से संचालित इस बम का परिक्षण किया गया था. वहीं व्हाइट हाउस के प्रवक्ता सॉन स्पाइसर ने कहा, ‘हमने आईएसआईएस लड़ाकों द्वारा इस्तेमाल की जा रही गुफाओं और सुरंगों को निशाना बनाया… आम नागरिकों को कम से कम नुकसान हो, यह सुनिश्चित करते के लिए इस हमले से पहले हमने सभी सुरक्षात्मक उपाय किए थे.’

अमेरिकी सैन्य मुख्यालय पेंटागन के प्रवक्ता एडम स्टंप ने कहा, ‘आतंकियों के खिलाफ लड़ाई में पहली बार इस तरह के बम का इस्तेमाल किया गया.’ उन्होंने बताया कि अमेरिकी फायटर जेट MC-130 के जरिये नंगारहर में आंतकियों की गुफाओं पर यह बम गिराया गया. हालांकि अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि इस हमले से कितना नुकसान हुआ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *