मसूरी: वीकेंड में भारी संख्या में पहुंचे पर्यटक।

सप्ताहांत पर मसूरी में पर्यटकों की आवक अच्छी रही, लेकिन दून के पर्यटन स्थल सहस्रधारा, मालदेवता व गुच्चुपानी में अधिक भीड़ भाड़ नहीं देखी गई। दून में तीनों पर्यटन स्थलों पर स्थानीय लोग ही परिवार के साथ पहुंचे थे, जबकि बाहर से आए पर्यटकों ने सीधे मसूरी का ही रुख किया। मसूरी में शनिवार से ही पर्यटकों की आवक होने लगी थी।

रविवार को पहाड़ों की रानी मसूरी व समीपवर्ती कैंपटी फॉल पर्यटकों से गुलजार रहे। माल रोड सहित लाइब्रेरी व कुलड़ी बाजार, चार दुकान, लालटिब्बा पर पर्यटकों से खूब रौनक रही। लाइब्रेरी चौक दुपहिया वाहनों से पैक रहा। कैंपटी फॉल झरने पर पर्यटकों ने ठंडे पानी में खूब अठखेलियां की। दोपहर बाद काफी संख्या में पर्यटक वापस अपने गंतव्यों की ओर लौटे और यह सिलसिला देर शाम तक जारी रहा। पर्यटकों की आमद भी जारी है।

मसूरी होटल एसोसिएशन अध्यक्ष राकेश नारायण माथुर ने बताया कि शाम तक अधिकांश होटलों में 30 से 40 प्रतिशत आक्युपेंशी रही। दूसरी ओर मालदेवता में पर्यटकों की आवक को देखते हुए रायपुर थाने की ओर से जगह-जगह बैरिकेडिंग लगाए गए थे, लेकिन दिनभर में 700 से 800 पर्यटक ही यहां पहुंचे। यही हाल मालदेवता और गुच्चुपानी का भी रहा। एसओ दिलबर सिंह नेगी ने बताया कि मालदेवता व सहस्रधारा में अधिकतर स्थानीय लोग ही परिवार के साथ पहुंचे हुए थे।

मसूरी में 150 व्यक्तियों का हुआ कोविड टेस्ट:
प्रशासन के आदेश पर संयुक्त सिविल चिकित्सालय की ओर से अलग-अलग टीमें बनाकर शहर के मैकिनन पंप मोहल्ले व सुमित्र भवन के नीचे वाले क्षेत्र में 150 पर्यटकों व अन्य व्यक्तियों के टेस्ट किए गए। अस्पताल के कोविड नोडल अधिकारी डॉ. प्रदीप राणा ने बताया कि सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। यह प्रक्रिया लगातार जारी रहेगी। उन्होंने शहर वासियों व पर्यटकों से कोविड टेस्ट करवाने की अपील की। साथ ही मास्क पहनने व शारीरिक दूरी का पालन करने को कहा। वहीं, देहरादून के मालदेवता, गुच्चुपानी और सहस्रधारा में रविवार को कोई टेस्ट नहीं किए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *