राज्य आयुष्मान योजना के गोल्डन कार्ड धारक मरीजों को प्लाज्मा व प्लेटलेट इलाज कैशलेस मिलेगा।

राज्य आयुष्मान योजना के गोल्डन कार्ड धारक मरीजों को प्लाज्मा व प्लेटलेट इलाज कैशलेस मिलेगा। यदि किसी कार्ड धारक मरीज को प्लाज्मा की जरूरत पड़ती है तो उसे प्लाज्मा या प्लेटलेट के लिए कोई शुल्क नहीं देना होगा।

प्लाज्मा व प्लेटलेट के लिए आयुष्मान योजना में अलग से पैकेज होगा। इसके लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) को सरकार की ओर से प्लाज्मा व प्लेटलेट के तय किए रेट को पैकेज में शामिल करने का प्रस्ताव भेजा गया है। 
कोरोना संक्रमित और डेंगू मरीजों के लिए प्लाज्मा व प्लेटलेट की जरूरत पड़ती है। पहली बार सरकार ने प्लाज्मा और प्लेटलेट के रेट तय किए हैं। जिसमें प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों व अस्पतालों के जनरल वार्ड में भर्ती के लिए 9000 रुपये और निजी अस्पतालों में भर्ती मरीजों के लिए 12 हजार रुपये की दर निर्धारित की गई है।
राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण को प्रस्ताव भेजा गया
सरकार की ओर से तय किए गए रेट को आयुष्मान योजना के पैकेज में शामिल करने के लिए राज्य की ओर से राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण को प्रस्ताव भेजा गया है। बता दें कि प्रदेश में गोल्ड कार्ड धारक लाभार्थियों की संख्या 39 लाख है। 

सरकार ने प्लाज्मा व प्लेटलेट के रेट तय किए हैं। आयुष्मान योजना के कार्ड धारकों के लिए यह कैशलेस रहेगा। प्लाज्मा व प्लेटलेट का पैकेज अलग से बनाया जा रहा है। इसके लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण को प्रस्ताव भेजा गया है। पंजीकरण निजी अस्पतालों में भर्ती कार्ड धारक मरीज को प्लाज्मा की जरूरत पड़ती है तो उनका भुगतान राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण की ओर से जाएगा। – डीके कोटिया, अध्यक्ष, राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण

आयुष्मान योजना में गोल्डन कार्ड पर मरीजों का कोविड या अन्य बीमारियों का मुफ्त इलाज किया जा रहा है। कार्ड धारकों के लिए प्लाज्मा व प्लेटलेट का इलाज भी कैशलेस रहेगा। – अमित सिंह नेगी, सचिव स्वास्थ्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *