राज्य सरकार ने अगले महीने से कोविड के कारण बंद हो चुके स्कूलों को खोलने का फैसला किया है।

राज्य सरकार ने कोविड की वजह से बंद चल रहे स्कूलों को अगले माह से खोलने का निर्णय लिया है। ऐसे में विद्यार्थियों की सुरक्षा के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश भी जारी हो गए हैं। खंड शिक्षा अधिकारी बीएन पाडे ने बताया कि कोविड की निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद ही शिक्षक व स्टाफ स्कूल में प्रवेश करेगे। रिपोर्ट प्रधानाचार्य को सौंपनी होगी।

एक नवंबर को रविवार होने की वजह से स्कूल दो नवंबर से खोले जाएंगे। फिलहाल हाईस्कूल व इटर के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खोले जा रहे हैं। बोर्ड परीक्षा के आवेदन पत्र भी भरे जाने है। एसडीएम विजयनाथ शुक्ल ने बताया कि शिक्षकों व कर्मचारियों की जाच शिक्षा विभाग करा रहा है। बैठक कर तय कर लिया जाएगा कि जाच कहा की जानी है।
गौरतलब है कि स्कूल-कालेज खोलने के लिए शासन-प्रशासन स्तर पर आनलाइन सर्वे भी कराया गया था। इसमें 60 प्रतिशत अभिभावकों ने नियमों का पालन कराते हुए कालेज फिर से चालू करने को जरूरी बताया। इसके विपरीत 33 प्रतिशत लोगों ने हालातों को अभी भी ठीक नहीं होने का हवाला देते हुए फिलहाल आनलाइन अध्ययन कराने पर भी जोर दिया था। शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि विद्यार्थियों की सुरक्षा के मद्देनजर सरकार की गाइडलाइन के अनुरूप सभी व्यवस्था लागू की जाएंगी। शिक्षकों को स्कूल खुलने से पहले ही अपने स्वास्थ्य को लेकर अलर्ट रहना होगा। शिक्षकों के अलावा कालेज के अन्य स्टाफ के सदस्यों को भी अपनी कोरोना जांच करानी होगी। रिपोर्ट बाकायदा प्रधानाचार्य के पास जमा होगी। तब जाकर शिक्षकों और स्टाफ को कालेज में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। विद्यार्थियों के बीच शारीरिक दूरी का शिद़्दत से पालन कराया जाएगा। इसके अलावा मास्क लगाकर आने की अनिवार्यता भी होगी। नियम-कानूनों का गहनता से पालन कराया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *