देश-विदेश से आने वाले सैलानियों और स्कीयर्स को स्कीइंग के अतिरिक्त यहां इसी साल से आइस स्केटिंग की सुविधा भी मिलेगी।

औली में आइस स्केटिंग रिंक बनकर तैयार हो गया है। उचित तापमान मिलने के बाद रिंक में बर्फ जमाने का काम भी शीघ्र शुरू हो जाएगा।

औली में 2010-11 में सैफ विंटर गेम्स के दौरान आइस स्केटिंग रिंक को बनाने का काम शुरू हुआ था, लेकिन सैफ गेम्स होने के बाद रिंक का निर्माण कार्य अधूरा छूट गया। जीएमवीएन (गढ़वाल मंडल विकास निगम) और पर्यटन विभाग ने निर्माण पूरा करने के लिए बजट की मांग की लेकिन बजट मंजूर नहीं हुआ।
सात साल बाद वर्ष 2017 में शासन ने रिंक निर्माण के लिए राज्य योजना के तहत 138.79 लाख रुपये का बजट स्वीकृत किया। 15 दिसंबर 2018 को काम शुरू हुआ जो अब दो साल बाद पूरा हो गया है। रिंक में मशीनों से बर्फ जमाने के बाद सैलानी औली स्लोप पर स्कीइंग करने के साथ ही आइस स्केटिंग रिंक का भी भरपूर मजा ले सकेंगे। 

पर्यटन मंत्री चार को करेंगे उद्घाटन:
सूबे के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज चार नवंबर को औली में आइस स्केटिंग रिंक का शुभारंभ करेंगे। चमोली जिले की प्रभारी अधिकारी कुमकुम जोशी ने बताया कि पर्यटन मंत्री पूर्वाह्न 11 बजे औली में आइस स्केटिंग रिंक का लोकार्पण करेंगे। 

औली में आइस स्केटिंग रिंक का कार्य पूरा कर लिया गया है। रिंक में बर्फ जमाने के बाद औली में सैलानी और स्कीयर्स आइस स्केटिंग रिंक में खेल का आनंद ले सकेंगे। रिंक की लंबाई 30 मीटर और चौड़ाई 60 मीटर है। रिंक परिसर में क्लब हाउस, लॉकर रूम, गार्ड रूम, स्टोर कक्ष, प्रीफेब्रीकेट हट्स का निर्माण किया गया है।
– जितेंद्र कुमार, महाप्रबंधक, जीएमवीएन, औली, जोशीमठ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *