कुल संक्रमितों की संख्या 55347 हो गई है। 

उत्तराखंड में त्योहारी सीजन से पहले कोरोना संक्रमण से थोड़ी राहत मिली है। डेढ़ माह के बाद एक दिन में 300 से कम संक्रमित मामले मिले हैं। वहीं, संक्रमितों से ज्यादा मरीज ठीक हुए हैं। 24 घंटे में 15 मरीजों की मौत हुई है। प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 55347 हो गई है।

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार सोमवार को 9749 सैंपल नेगेटिव और 296 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग के लिए राहत की बात यह है कि डेढ़ माह के बाद प्रदेश में एक दिन में तीन सौ से कम कोरोना मरीज मिले हैं। 19 अगस्त को प्रदेश में 264 संक्रमित मरीज मिले थे। इसके बाद कोरोना संक्रमित मामले तेजी से बढ़े हैं। अनलॉक-5 में अब तक एक दिन में सबसे कम संक्रमित मरीज मिले हैं। 
देहरादून जिले में सबसे अधिक 108 कोरोना मरीज मिले हैं। नैनीताल में 31, चंपावत में 31, हरिद्वार में 26, उत्तरकाशी में 23, अल्मोड़ा में 19, ऊधमसिंह नगर में 16, पौड़ी में 12, पिथौरागढ़ में 10, चमोली में नौ, रुद्रप्रयाग में छह, बागेश्वर में चार, टिहरी में एक कोरोना मरीज मिला है। 

प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 15 कोरोना मरीजों की मौत हुई है। इसमें एम्स ऋषिकेश में पांच, हिमालय हास्पिटल में चार, सीएमआई हास्पिटल में दो, सुशीला तिवारी मेडिकल कालेज हल्द्वानी में चार मरीजों ने दमतोड़ा है। अब मरने वालों की संख्या 762 हो गई है। वहीं, 664 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। अब तक 47306 मरीज ठीक स्वस्थ हो चुके हैं।

लक्षण दिखने पर जरूर कराएं कोरोना जांच:
पूर्व विधायक राजकुमार ने सोमवार को देहरादून की रविदास मंदिर आंबेडकर कॉलोनी नालापानी रोड में कोविड-19 टेस्ट के निशुल्क शिविर का उद्घाटन किया। सीएमओ कार्यालय की ओर से शिविर लगाया गया था।

पूर्व विधायक ने कहा कि लक्षण दिखने पर लोग जरूर कोरोना की जांच कराएं। इस दौरान पार्षद देविका रानी, निखिल कुमार, अमीचंद सोनकर, अजय बेनवाल, विकास यादव, राजीव सरीन, गंगा देवी, पूनम, मितलेश, गुलशन, ब्रह्मानंद, सीएमओ कार्यालय के डॉक्टर आदि मौजूद रहे।

कोरोना को हरा काम पर लौटी नगर आयुक्त:
कोरोना को हराने के बाद काम पर लौटी रुड़की नगर आयुक्त नूपुर वर्मा का निगम अधिकारियों व कर्मचारियों ने स्वागत किया। सभी का आभार व्यक्त करने के बाद उन्होंने अपने कार्यालय काम किया और फिर हरिद्वार में आयोजित एक बैठक में भाग लिया।

नगर आयुक्त नूपुर वर्मा करीब बीस दिन पूर्व कोरोना संक्रमित पाई गई थीं। इसके बाद से वे अपने घर पर ही आइसोलेट थीं। इस दौरान उन्होंने न केवल योद्धाओं की तरह कोरोना पर जीत हासिल की। बल्कि घर में ही तमाम सरकारी कामकाज निपटाए।

उन्होंने शासन और निदेशालय की ओर से गूगल मीट पर हुई सभी बैठकों में हिस्सा लिया। यही नहीं डिजिटल सिग्नेचर के जरिए कई फाइलों को आगे भी बढ़ाया। विगत दो अक्तूबर को पहली रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्होंने निगम के कर्मचारियों की सैलरी पर हस्ताक्षर कर तीन अक्तूबर को ही सैलरी भी जारी कराई।

सोमवार को ऑफिस पहुंचने पर उनका स्वागत हुआ। इस दौरान मंशा नेगी, अमित कुमार, मृदुल, कय्यूम, नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विक्रांत सिरोही, सूर्य मोहन आदि मौजूद रहे। 

वन विभाग कालोनी को बनाया कंटेनमेंट जोन:
ऋषिकेश के मुनिकीरेती क्षेत्र में बीते रविवार को नरेंद्रनगर प्रभागीय वनाधिकारी समेत 20 वन कर्मियों के कोरोना पॉजिटिव मिलने पर सोमवार को वन विभाग कालोनी को कंटेनमेंट जोन बना दिया गया है। फकोट ब्लॉक के स्वास्थ्य प्रभारी डॉ. जगदीश चंद्र जोशी ने बताया कि नरेंद्रनगर वन विभाग कॉलोनी मुनिकीरेती में वन कर्मियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर कालोनी को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है।
एसपीएस राजकीय चिकित्सालय में सोमवार को कोविड-19 के 105 आरटीपीसीआर हुए। लैब टेक्नीशियन भूपेंद्र सिंह ने बताया कि सभी सैंपलों को देहरादून लैब में भेजा गया है। वहीं ऋषिकेश तहसील परिसर में रैपिड एंटीजन के 54 सैंपल लिए गए। लैब टेक्नीशियन विनय नेगी ने बताया कि सभी एंटीजन टेस्ट निगेटिव हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *