थॉट ऑफ़ दा डे.

“न जिंदगी में कुछ लेकर आए थे न कुछ लेकर जाएगे, जो भी कमायेगे जितना कमायेगे |

सब कुछ अपने परिवार और अपने बच्चों को देकर चले जाएगे” |

जिंदगी ऐसे ही चलती है : क्या खोया क्या पाया सोचते रह गये और जिंदगी गुजर गयी |

Written by Arun Sharma (  AK- 47)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *