टिहरी और चमोली गढ़वाल में बादलों ने मचाया कोहराम, लोगों की गाड़ियाँ और घर बहे, २ लोगों की मौत की पुष्टि

उत्तराखंड के गढ़वाल मंडल में बादलों ने कहर बरपा दिया। यहां दो जगह बादल फटने की घटना सामने आई है। जिसमें 11 घर बह गए हैं। दोनों घटनाओं में एक महिला, एक बच्ची की मौत हो गई है। दो महिलाएं मलबे में दबी हैं। एक लापता है व कई लोग घायल हुए हैं। स्थानीय लोग इन घटना को बादल फटना बता रहे हैं। जबकि प्रशासन का कहना है कि दोनों अतिवृष्टि की घटनाएं हैं।

गांव में 11 मकान बह गए

पहली घटना चमोली जिले में कर्णप्रयाग के देवाल क्षेत्र में हुआ। यहां फल्दिया गांव में गुरुवार देर रात करीब 10.30 बजे अतिवृष्टि होने से भारी तबाही मच गई। गांव में भारी मात्रा में मलबा आ गया है। मलबे में फल्दिया गांव की दो महिलाओं के दबने की सूचना है। यहां बादलों ने ऐसी तबाही मचाई है कि गांव में 11 मकान बह गए हैं। गाय, भैंस सहित खाने-पीने का सामान भी बह गया है।

बिजली गुल, पानी की लाइन टूटी

फल्दिया गांव में बिजली गुल है। पानी की लाइन टूट गई है। पूरे गांव में हाहाकार मचा है। लोग अभी भी खौफ के साए में है। वह अपने घरों पर टूटी तबाही देखकर इधर-उधर भटक रहे हैं। पुलिस और एसडीएम केएस नेगी सहित पूरी प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई है। इसके अलावा देवाल क्षेत्र की सभी सड़कें बंद हो गई हैं। सिर्फ देवाल-थराली मोटर मार्ग खुला है। तलौर, बमण, बेरा, पदमल्ला आदि गांवों में भी भारी तबाही की सूचना है।

घनसाली में भी बादलों ने कोहराम मचाया

दूसरी ओर टिहरी जिले के घनसाली में भी बादलों ने कोहराम मचा दिया। यहां घनसाली पट्टी नैलचामी के धार गांव थाती में गुरुवार देर रात करीब एक बजे भारी अतिवृष्टि हुई। जिसमें एक महिला और एक बच्ची की मौत हो गई है। एक व्यक्ति लापता है और दो लोग घायल हुए हैं।

घटना की सूचना पाकर तहसीलदार मौके पर पहुंच गए हैं। बताया गया कि शंकर सिंह के घर के ऊपर सोड़ तोक में बादलों ने कहर बरपाया। शंकर सिंह और उनकी पत्नी बचन देई को मलबे से ग्रमीणों ने निकाल लिया है।  दोनों घायलयहां कई बीघा खेत एवं मवेशी बह गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *