उत्तराखंड विधानसभा के शीतकालीन सत्र का आज समापन हो गया।

सदन चार दिन में नौ घंटे चला। इसके बाद सदन अनिश्चित काल के लिए स्थगित हो गया। शीतकालीन सत्र में अनुपूरक बजट सहित छह विधेयक पास हुए। सुबह करीब 11 बजे विधानसभा सत्र कार्यवाही की शुरू हुई। हरिद्वार में दरिंदगी की शिकार मासूम बच्ची की घटना पर चर्चा हुई। विपक्ष ने 310 के तहत मामला उठाया। 58 के तहत चर्चा शुरू हुई। 

वहीं, सदन में विपक्ष ने महंगाई के मुद्दे पर सरकार को घेरने की कोशिश की। महंगाई पर सरकार के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने वॉकआउट किया।  विपक्ष ने काम रोको प्रस्ताव के तहत सदन में महंगाई का मुद्दा उठाया। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा कि सरकार महंगाई पर अंकुश लगाने में पूरी तरह से विफल साबित हुई है। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के अनुसार प्रदेश में महंगाई चरम पर है। आलू, प्याज, टमाटर आम लोगों की पहुंच से बाहर हो रहा है।

वहीं, गैस सिलिंडर की कीमतों में 100 रुपये की बढ़ोत्तरी की गई। कोविड महामारी के कारण लोगों की आजीविका प्रभावित हुई है। ऐसे में महंगाई की मार से घर चलाना मुश्किल हो रहा है। सरकार ने महंगाई से निजात दिलाने के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई। प्रदेश में कहीं भी थोक रेट के स्टॉल नहीं लगाए गए। विधायक प्रीतम सिंह ने प्रदेश में गरीब आदमी की पहुंच से सब्जी व दालें बाहर हो गई है। सरकार को महंगाई नजर नहीं आ रही है।
विपक्ष के सवालों के जवाब में संसदीय कार्य मंत्री मदन सिंह कौशिक ने कहा कि प्रदेश में महंगाई को नियंत्रित करने के लिए सरकार की ओर से कई कदम उठाए गए।  जिससे महंगाई कंट्रोल में है। उन्होंने उत्तराखंड में दाल, आटा, चावल, पेट्रोल, डीजल की कीमतों का चंडीगढ़, राजस्थान, हैदराबाद, दिल्ली, रायपुर समेत अन्य शहरों की कीमतों से तुलना किया। सरकार की ओर से 23 लाख परिवारों को सस्ता राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। सदन में सरकार के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने वॉक आउट कर दिया।

सदन में सुर्खियों में रही प्रीतम की अंगूठी:
सदन में महंगाई, भ्रष्टाचार, कानून व्यवस्था, स्वास्थ्य के मुद्दे गरमाने के साथ ही कांग्रेस विधायक प्रीतम सिंह की अंगूठी भी सुर्खियों में रही। सत्र के चौथे दिन सदन में नियम 58 पर चर्चा के दौरान सत्ता पक्ष ने अंगूठी पर खूब चुटकी ली।

संसदीय कार्य मंत्री मदन कौशिक ने चर्चा के दौरान चुटकी ली कि जब से अंगूठी गई तब से प्रीतम सिंह कुछ बिचल गए हैं। इस पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि अंगूठी की कहानी अभी तक समझ नहीं पाया।

इस पर कौशिक ने कहा कि प्रीतम सिंह को किसी ने 2022 की भावनाएं पूरी होने के लिए अंगूठी दी थी, लेकिन प्रीतम के शुभचिंतकों ने अंगूठी में हेराफेरा कर दी। प्रीतम सिंह ने जवाब दिया कि अंगूठी चमत्कारी थी।

जिससे सत्ता पक्ष के विधायक भी सरकार पर प्रहार कर रहे हैं। अंगूठी खोना सरकार के सिर चढ़ कर बोल रहा है। बता दें कि कांग्रेस के विधानसभा कूच के दौरान प्रीतम सिंह की अंगूठी खो गई थी।
बिना सूचना के स्वास्थ्य केंद्र छोड़ने पर एएनएम के खिलाफ होगी कार्रवाई
संसदीय कार्य मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि प्रदेश के सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर गर्भवती महिलाओं की जांच, टीकाकरण की सुविधाएं उपलब्ध हैं। सरकार का प्रयास है कि स्वास्थ्य सेवाओं के अभाव में किसी की जान न जाए। बिना सूचना के स्वास्थ्य केंद्र छोड़ने पर एएनएम के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यदि एएनएम अवकाश पर रहती है तो इसकी जगह सीएमओ वैकल्पिक व्यवस्था करेंगे। 

बृहस्पतिवार को विधायक प्रीतम सिंह पंवार ने सदन में उत्तरकाशी जिले के मौरी और नौगांव में स्वास्थ्य सुविधा न मिलने के कारण दो महिलाओं की मौत का मामला उठाया। संसदीय कार्य मंत्री ने मदन कौशिक ने कहा कि प्रदेश में बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के लिए सरकार ने इंडियन पब्लिक हेल्थ स्टैंडर्ड के मानकों के अनुसार चिकित्सा इकाईयां बनाई है। 763 डॉक्टरों और 1238 नर्सों की भर्ती प्रक्रिया चल रही है। प्रदेश में मातृ मृत्यु दर 285 से घट कर 99 प्रति लाख हुई है। वहीं, शिशु मृत्यु दर में भी 38 से घट कर 31 प्रति हजार पर आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *