ब्रम्हांड की उत्पति कैसे हुई और उससे पहले क्या था?

ब्रम्हांड की उत्पति कैसे हुई और उससे पहले क्या था

 

ब्रम्हांड की उत्पति कैसे हुई और उससे पहले क्या था यह सवाल आप के मन में भी आता होगा चलिए आज हम आपको थोड़ा इसके बारे में जानकारी देने की कोशिस करेंगे |

 

 

ब्रह्माण्ड की उत्पति के विषय में सबसे पहले georges lemaitre ने १९२७ में एक समीकरण दिया था जिसको हम friedmann lemaitre robertson walker के नाम से जानते है  यह  समीकरण अलबर्ट आइंस्टीन के सापेक्षता के सिद्धांत पर आधारित था इसके अनुसार ब्रम्हांड की उत्पति एक परमाण्विक इकाई  में हुए महाविस्फोट की वजह से हुयी | उस समय georges लेमैत्रे के इस थ्योरी का बहुत मजाक बनाया गया था पर बाद में इस थ्योरी को सब ने माना और आज भी इस थ्योरी को सबसे ज्यादा माना जाता है |

Hubbles lawमहाविस्फोट की सिद्धांत दो धारणाये है पहली “भौतिकी सिद्धांत” पर और दूसरा “ब्रह्मांडीय सिद्धांत(Cosmological Principle)”. हब्बल का ब्रह्मांडीय सिद्धांत(Cosmological Principle) महा विस्फोट के सिद्धांत का मूल है। ह्ब्बल के लाल विचलन के सिद्धांत अनुसार आकाशगंगाये एक दूसरे से दूर जा रही है जिससे ब्रम्हांड  फैल रहा है आकाशगंगाये एक दूसरे से दूर जा रही है यानि की वह कभी एक दूसरे के करीब थी |

अगर हम और पीछे की बात करे तो आकाशगंगाये एक दूसरे के बहुत पास रही होगी यानि की ब्रमांड की ऊर्जा, पदार्थ, घनत्व और तापमान सभी एक ही जगह पर रही होंगी जिसे गुरुत्विय  ‘सिन्गुलरीटी ‘ भी कहते है |आज से १३ से १४ अरब साल पहले कुछ भी नहीं था यानि की किसी का भी अस्तीत्वा नहीं था और ब्रम्हांड एक  परमाण्विक इकाई में था या यह कह सकते है की सब कुछ एक बिंदु में था इससे लेमैत्रे के सिद्धांत की पुस्टि होती है |

big bang theoryमहाविस्फोट के सिद्धांत के अनुसार इसमें एक जोरदार धमाका हुआ जिससे की बहुत सारी ऊर्जा का उत्सर्जन हुआ और साथ ही साथ गर्म द्रव्य निकला जिसमे लेपटोन, कॉर्क और फोटोन थे उसके बाद कॉर्क से मिलकर न्यूट्रॉन और प्रोटोन  बनने शुरू हुए जब यह द्रव्य कुछ और ठंडा हुआ तो इसके फलस्वरूप  हाइड्रोजन, हीलियम आदि तत्वा अस्तित्त्व में आने शुरू हुए जिससे की ब्रमांड में भौतिक तत्व का आरम्भ हुआ | | ब्रिटिश वैज्ञानिक पीटर हिग्गस ने महाविस्फोट के बाद द्रव्यों को मिलने वाले भार का सिद्धांत दिया था  जो की भारतीय वैज्ञानिक सत्येन्द्र नाथ बोस के बोसोन सिद्धांत पर आधरित था | इसके बाद धीरे धीरे तारे, ग्रह, उपग्रह, धूमकेतु, बने इस प्रकिर्या से सूर्य और हमारा सौरमंडल तथा पृथ्वी का निर्माण हुआ |

दोस्तों आपको यह जानकारी कैसी लगी इसके लिए आप हमरे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *