श्रीमती सोना सजवाण: उत्तराखंड पहाड़ की इस महिला के बारे में आपको जरूर जानना चाहिए, पढ़े हमारी रिपोर्ट

अपनी वर्षों की कड़ी मेहनत और इच्छाशक्ति से आज पहाड़ की बेटी ब्यारी बड़े से बड़े मुकाम हासिल कर रही हैं…आज हम आपको एक एसी ही महिला के बारे में बताने जा रहे हैं जो अपनी कड़ी मेहनत और दृढ़ इच्छाशक्ति के बल पर घास काटने से लेकर टिहरी जिले के सर्वोच्च राजनीतिक पद जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर विराजमान रही हैं,जी हाँ टिहरी की लाडली कही जाने वाली सोना सजवाण आज किसी पहचान की मोहताज नहीं है…पेश है टिहरी से हमारे संवाददाता पवन नैथानी की एक रिपोर्ट।

उत्तराखंड में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर जहां एक तरफ भाजपा राज्यभर में अपने प्रत्याशियों को जिताने के लिए हर संभव कोशिश में जुटी हुई है, वहीं टिहरी जिले में भाजपा के लिए खुशी की खबर है। जिला पंचायत सदस्य सीट पर भाजपा से नामित निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण और उनके पति रघुवीर सजवाण निर्विरोध चुने गए हैं।

टिहरी जिले के भिलंगना ब्लॉक से भाजपा से नामित निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण हडियाणा मल्ला और उनके पति रघुवीर सजवाण अखोड़ी जिला पंचायत सीट से निर्विरोध चुने गए हैं। इतना ही नहीं निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण तीसरी बार पंचायत चुनाव में निर्विरोध सदस्य बनने वाली पहली महिला हो गई है। सोना सजवाण इससे पूर्व 1996 में भिलंगना ब्लॉक के मल्याकोट जिला पंचायत वार्ड से निर्विरोध जिला पंचायत सदस्य बनी थी। 2008 में नैलचामी से निर्विरोध क्षेत्र पंचायत सदस्य बनी थी। 2014 में अखोड़ी सीट से जिला पंचायत सदस्य और जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव जीती थी। वर्तमान पंचायत चुनाव 2019 में हडियाणा मल्ला सीट से जिला पंचायत सीट से निर्विरोध चुनी गई हैं ।

वहीं निवर्तमान जिलाध्यक्ष सोना सजवाण के पति रघुवीर सजवाण अखोड़ी सीट से चुनाव मैदान में थे लेकिन नामांकन के बाद उनके सामने 2 प्रत्याशी खड़े थे। इसके बाद प्रत्येक गांव में बैठक होने के बाद दोनों प्रत्याशियों ने नामांकन के बाद रघुवीर सजवाण पक्ष में नाम वापस ले लिया था। निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण का कहना है कि जनता केन्द्र और राज्य सरकार की विकास की नीतियों से प्रभावित होकर भाजपा के साथ आना चाहती है।

बता दें कि टिहरी में कांग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टी अपने-अपने प्रत्याशियों को जिताने के लिए कोई कोर कसर नही छोड़ रही हैं लेकिन भाजापा टिहरी में अभी तक अब्बल साबित हो रही है।अब देखने वाली बात होगी की कौन सी पार्टी अपने प्रत्याशी को जीताने में कामयाब शाबित होती है।

टिहरी गढ़वाल की निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण,और वर्तमान में हाडियाणां मल्ला से निर्वरोध जिला पंचायत सदस्य और भारतीय जनता पार्टी से अध्यक्ष पद की उमीदवार सोना सजवाण, टिहरी जिले के सीमान्त नैलचामी पट्टी के जाख गांव में जन्मी सोना सजवाण अपनी सोच और दृढ़ इच्छा शक्ति की बदौलत टिहरी गढ़वाल के जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर वर्ष 2014 से 2019 तक विराजमान रही हैं.

लेकिन एक समय था जब सोना सजवाण गांव में ही खेती बाड़ी का काम किया करती थी और कुछ समय तक आंगनबाड़ी कार्यकत्रि रही और फिर सरस्वती शिशु मंदिर में बच्चों को पढ़ाने का काम भी किया करती थी..सन् 1996 में जाख नैलचामी से निर्विरोध जिला पंचायत सदस्य के तौर पर अपना राजनीतिक सफर शुरू करने वाली सोना को कभी निराशा तो कभी खुशी दोनों हाथ लगी…लेकिन सोना ने कभी निराशा को अपनी सोच के आड़े नहीं आने दिया और टिहरी गढ़वाल जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी संभाली है।

पहाड़ की बेटी ब्वारी की तरह सरल स्वभाव वाली सोना सजवाण आज भी अपने पुराने दिनों को नहीं भूली हैं,और जब भी मौका मिलता है वो अपने गांव जाकर महिलाओं को खेती के लिए प्रति प्रेरित करती हैं और खुद भी खेतों में काम करती हैं।धान की बुआई रोपाई हो या गुड़ाई सोना सजवाण को खेतों में काम करना और बच्चों को पढ़ाना पसंद है,घर की सबसे बड़ी बहू होने के बावजूद उन्होंने घर परिवार खेत और राजनीति में खुद को साबित किया जिसमें उनके पति ने उनका सबसे अधिक साथ दिया।

पंचायतों के कामकाज को व्यवहारिक ढंग से समझने के साथ ही सोना सजवाण की अध्यक्षता में टिहरी गढ़वाल में बंसतोत्सव के भी सफल आयोजन हुवे हैं.

और यही नहीं 24 अप्रैल 2016 को उत्तराखंड की सर्वश्रेष्ठ जिला पंचायत का पुरस्कार भी सोना सजवाण की अध्यक्षता में टिहरी जिला पंचायत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दिया गया,इतना ही नहीं उत्तराखंड के गाँधी स्वर्गीय इन्द्रमणी बड़ोनी की जन्मभूमि अखोडी में जिला पंचायत टिहरी के इतिहास में पहली बार त्रैमासिक बोर्ड बैठक जिला मुख्यालय से बाहर खुले आसमान के नीचे भिलंगना ब्लॉक के अखोड़ी गांव में आयोजित की गई। गांवों की समस्याओं की ओर अधिकारियों का ध्यान दिलाने और विकास कार्यों में गुणवत्तापूर्वक कार्य करवाने के उद्देश्य से पहली बार यह ऐतिहासिक बैठक आयोजित की गई है।

पहाड़ की महिलाओं और बच्चियों के लिए एक बेहतर भविष्य के लिए सोना सजवाण लगातार कुछ न कुछ करने में लगी रहती हैं।खेतों में घास काटने से लेकर टिहरी गढ़वाल की निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण पहाड़ की महिलाओं की पीड़ा को समझती हैं और इस काम को करने के लिए लगातार प्रयास करती आ रही हैं,तभी तो पहाड़ की इस बेटी ब्वारी को आज टिहरी की लाडली कहा जाता है।

 

मनीष नैथानी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *