अब पर्यटक स्थलों पर भी मिलेगी मोबाइल टॉयलेट की सुविधा।

उत्तराखंड में पर्यटकों की सुविधा के लिए पर्यटक स्थलों पर आधुनिक मोबाइल टॉयलेट स्थापित किए जा रहे हैं। पहले चरण में 15 मोबाइल टॉयलेट खरीदे जाएंगे, इनमें से पांच खरीदे जा चुके हैं। जिन पर्यटक स्थलों पर टॉयलेट की सुविधा नहीं है, वहां पर मोबाइल टॉयलेट की व्यवस्था की जाएगी।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने शुक्रवार को सुभाष रोड स्थित आवास पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इसके बाद पर्यटन मंत्री ने मोबाइल टॉयलेट सुविधा का शुभारंभ किया।
उन्होंने मसूरी स्थित जार्ज एवरेस्ट के लिए मोबाइल टॉयलेट रवाना किया। बताया कि चारधाम यात्रा मार्ग पर 54 शौचालयों के उच्चीकरण और आधुनिकरण का कार्य पूरा किया जा चुका है। दूसरे चरण में पौड़ी व चमोली जनपद के 37 शौचालयों का उच्चीकरण प्रस्तावित है।
मोबाइल शौचालय में पुरुष एवं महिलाओं के लिए अलग-अलग व्यवस्था है। महिला शौचालय में 3 सीट और पुरुष शौचालय में 2 सीट एवं एक यूरिनल पोट लगाया गया है। इसमें 2 किलो वाट का सोलर प्लांट भी लगाया गया है, जो कि इस मोबाइल शौचालय की बिजली की जरूरत को पूरा करेगा।

इसमें एक हजार लीटर पानी का टैंक और पानी के टैंक को भरने के लिए मोटर की व्यवस्था भी है। जिससे पानी को लिफ्ट करके कहीं से भी भरा जा सकता है। उन्होंने बताया कि इसमें सीवर एकत्र करने के लिए 750 लीटर का टैंक लगाया गया है।

कहां-कहां मिलेगी सुविधा
पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि बताया कि हरिद्वार में चार, जॉर्ज एवरेस्ट में पांच, मसूरी में एक, चोपता तुंगनाथ में एक, सतपुली में एक, कौड़ियाला में एक, कण्वाश्रम में एक और कालीमठ में एक मोबाइल टॉयलेट लगाया जाएगा। एक मोबाइल टॉयलेट की लागत लगभग 16.50 लाख है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *