उत्तराखंड के 79 राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आइटीआइ) में दाखिला प्रक्रिया जारी है।

अब तक तीन चरणों की काउंसलिंग पूरी हो चुकी है जिसमें 8044 सीटों के सापेक्ष करीब 4000 प्रवेश दिए जा चुके हैं। जो युवा अब भी प्रवेश के लिए आवेदन नहीं कर सके हैं उनके पास स्पाट काउंसलिंग में शामिल होने का आज अंतिम मौका है।

प्रवेश समिति कर रही है स्पाॅट काउंसलिंग:
छूटे हुए युवाओं को मौका देने के लिए हर जिले में नोडल प्रधानाचार्य स्तर पर प्रवेश समिति गठित की गई है। जो कि स्पाट काउंसलिंग के माध्यम से आवेदन फार्म जमा करेगी। स्पाट काउंसलिंग में सीटों के आवंटन में पहले उन्हीं युवाओं को वरीयता दी जाएगी जो पूर्व में इसके लिए आवेदन कर चुके हैं। इसके बाद शेष सीटों पर नए आवेदकों को प्रवेश मिलेगा।

21 नवंबर को जारी होगी मेरिट:
स्पाट काउंसलिंग संपन्न होने के बाद संस्थानवार, व्यवसायवार मेरिट सूची 21 नवंबर को जारी की जाएगी। सूची में नाम वाले युवाओं को प्रवेश लेने के लिए 21 और 22 नवंबर तक का समय दिया जाएगा।

11479 युवाओं ने किया है आवेदन:
कोरोना संक्रमण के चलते इस बार अन्य शैक्षणिक संस्थानों की तर्ज पर आइटीआइ में प्रवेश के लिए भी आनलाइन प्रवेश प्रक्रिया शुरू की गई थी। इस अवधि में 11479 युवाओं ने एनसीवीटी (नेशनल काउंसलिंग फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग) के तहत संचालित 32 ट्रेडों में दाखिले के लिए आवेदन किया था। हालांकि, पिछले साल के मुकाबले यह आंकड़ा करीब साढ़े पांच हजार कम है।

आरक्षित सीटों पर भी कम आवेदन:
हल्द्वानी स्थित प्रशिक्षण निदेशालय से मिली जानकारी के अनुसार सामान्य श्रेणी की 4204, अनुसूचित जाति की 1499, ओबीसी की 1104, ईडब्ल्यूएस की 780 और अनुसूचित जनजाति की 325 सीटों पर प्रवेश दिए जाने हैं। लेकिन ईडब्ल्यूएस में महज 79 और महिला सीटों पर 400 ही आवेदन आ सके हैं।

तीन चरणों की काउंसलिंग प्रक्रिया पूरी:
उप निदेशक, प्रशिक्षण निदेशालय जेएम नेगी ने बताया कि तीन चरणों की काउंसलिंग प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। अंतिम काउंसलिंग स्पाट काउंसलिंग के माध्यम से कराई जा रही है। अब तक करीब चार हजार युवाओं को विभिन्न संस्थानों में काउंसलिंग के माध्यम से प्रवेश दिया जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *