Unlock-5: कोरोनाकाल के बाद से यह पहला नजारा, गंगा में दिनभर तैरती रहीं रंग-बिरंगी राफ्ट।

वीकेंड की शुरूआत के पहले ही दिन छुट्टी का असर तीर्थनगरी में उमड़ी भारी भीड़ के बाद साफ नजर आया। शुक्रवार को तीर्थनगरी पर्यटकों से गुलजार रही। भीड़भाड देख स्थानीय व्यापारियों के चेहरे खिल उठे हैं। गंगा में दिनभर रंग-बिरंगी राफ्टें तैरती नजर आईं। भीड़ के कारण लक्ष्मणझूला मोटर मार्ग पर जगह-जगह जाम रहा। इस कारण स्थानीय नागरिकों के साथ ही पर्यटकों को भी परेशानी हुई। 

कोरोनाकाल के बाद से यह पहला नजारा दिखा जब तीर्थनगरी में पर्यटकों की भीड़ उमड़ी। शुक्रवार को अवकाश और शनिवार, रविवार वीकेंड होने के कारण विभिन्न प्रांतों के पर्यटक तीर्थनगरी पहुंचे। रामझूला, लक्ष्मणझूला, मुनिकीरेती, तपोवन में दिनभर पर्यटकों की चहलकदमी रही। लक्ष्मणझूला और रामझूला पुल भी पर्यटकों से भरा रहा।
लघु व्यापारी सुनील, भगवानदास श्रीवास्तव, रमेश, बबलू, सोनू ने बताया कि अब तीर्थनगरी में पर्यटकों की आवाजाही शुरू हो गई है। कोरोना के कारण बीते छह महीने से क्षेत्र में सन्नाटा पसरा हुआ था। इस दौरान लघु व्यापारियों का कारोबार ठप हो गया था, भरण पोषण करने में भी परेशानी हो रही थी। पर्यटकों की चहलकदमी देखकर अब उम्मीद है कि जल्द ही आजीविका का संकट दूर होगा। 

हादसों से सबक नहीं ले रही लक्ष्मणझूला पुलिस:
लक्ष्मणझूला पुलिस हादसों से सबक नहीं ले रही है। सप्ताहभर पहले क्षेत्र में प्रतिबंधित घाट पर स्नान कर रहा हरियाणा का युवक डूबा था, जिसका शुक्रवार को ही शव गंगा से बरामद किया गया है, लेकिन फिर भी पुलिस प्रशासन को इसकी कोई परवाह नहीं है। 

शुक्रवार को लक्ष्मणझूला-स्वर्गाश्रम क्षेत्र में पर्यटकों ने गंगा में डुबकी लगाई। इस दौरान कुछ पर्यटक पक्के और सुरक्षित घाटों को छोड़ प्रतिबंधित घाटों पर डुबकी लगाते हुए दिखाई दिए। अतिसंवेदनशील होने के बावजूद भी लक्ष्मणझूला पुलिस इन्हें रोकने में नाकाम साबित हो रही है।

गौरतलब है कि इस वर्ष जनवरी से अब तक 17 पर्यटकों ने गंगा में डुबकी के दौरान अपनी जान गंवाई है। थाना लक्ष्मणझूला निरीक्षक प्रमोद उनियाल ने बताया कि घाटों पर जलपुलिस तैनात है, यदि ऐसी बात है तो इस ओर उचित कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *