धनतेरस और छोटी दीपावली का त्‍योहार आज एक साथ मनाया जा रहा है।

त्रयोदशी गुरुवार रात साढ़े नौ बजे से लगी है। मान्यता है कि धनतेरस सूर्योदय या प्रदोष काल यानि सांय काल की पूजा के समय से ही माना जाता है। ऐसे में धनतेरस आज सूर्योदय के बाद ही मनाई जाएगी।

पूजा की विधि:
परिवार की खुशहाली और मनोकामना के लिए शाम को प्रदोष काल में सवा पांच बजे से सात बजकर 50 मिनट तक वृष लग्न में आटे का दीपक बनाकर चौमुखी बत्ती और तिल का तेल डालकर जलाएं। दीये को घर के मुख्य द्वार पर दक्षिण दिशा की तरफ रखें और ओम नमाय नम: धर्मराज आए नम: मंत्र का जाप करें। इससे अल्प मृत्यु का भय नहीं होता है। साथ ही ऐसा करने से माता लक्ष्मी की कृपा होती है।

ऋषिकेश में धनतेरस को लेकर बाजार में रौनक:
दीपावली से पहले धनतेरस पर बाजार में रौनक नजर आई। हालांकि धनतेरस के शुभ मुहूर्त को लेकर लोग असमंजस की स्थिति में रहे। इसके बाद भी स्थानीय नागरिकों ने बाजार से खूब खरीदारी की। लंबे समय से कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के कारण बाजार पटरी से उतरा हुआ था। अनलॉक की प्रक्रिया में धीर-धीरे बाजार खुलना शुरू हुआ और त्योहारों के आने के साथ ही बाजार भी गति पकड़ने लगा है। इन दिनों दीपावली के साथ ही विभिन्न त्योहारों आने से बाजार में रौनक लौट आई है।
गुरुवार को दीपावली को लेकर बाजार को खूबसूरत ढंग से सजाया गया था। इसके लिए व्यापारी कई दिनों से तैयारी कर रहे थे। गुरुवार को बाजार में खूब भीड़-भाड़ उमड़ी। हालांकि शास्त्रीय मान्यता के अनुसार देर सायं से धनतेरस का शुभ मुहूर्त होने और धनतेरस शुक्रवार तक प्रभावी रहने के कारण दिन के समय तक खरीदारी धीमी ही रही। जबकि सायं के समय खासी संख्या में लोग खरीदारी के लिए उमड़े।

नागरिकों ने बाजार में घरों की सजावट के लिए फूल, मालाएं, सजावट के सामान, मिट्टी के दीये, कंदील, झालर, लड़ि‍यां और रोशन व जगमगाहट से जुड़े अन्य उपकरण लिए।

ऑटो बाजार में भी रही चमक :
ऑटो बाजार में भी जबरदस्त उत्साह देखा गया। दुपहिया और चौपहिया वाहन निर्माता कंपनियों ने अपने शो-रूम और दुकानों पर धनतेरस को देखते हुए एडवांस में ही स्टॉक पहुंचा दिया था। गुरुवार को ऋषिकेश के सभी वाहनों के शो-रूमों पर भी भीड़ नजर आई। इसके साथ ही ज्वेलरी शॉप पर भी खरीदारों की खासी भीड़ रही।

ग्रीन दीपावली मनाकर दिया पर्यावरण संरक्षण का संदेश:
ऋषिकेश में पुष्पा वडेरा सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज ढालवाला में दीपावली के उपलक्ष्य में इको फ्रेंडली दीपावली मनाई गई। इस दौरान आयोजित रंगोली एवं दीप सज्जा प्रतियोगिता में सत्यम यादव, हरिओम नौटियाल व हर्ष धीमान की टीम प्रथम रही। गुरुवार को विद्यालय में आयोजित कार्यक्रम का उद्घाटन विद्यालय प्रबंध समिति के प्रबंधक हर्षमणि व्यास, उपाध्यक्ष भरतमणि कुड़ि‍याल व प्रधानाचार्य विजय बडोनी ने किया। इस मौके पर रंगोली, दीप सज्जा व दीपदान प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। जिसमें देशभक्ति, पर्यावरण, कोरोना व संस्कृति थीम पर छात्रों ने रंगोली तैयार की।

रंगोली एवं दीप सज्जा प्रतियोगिता में छात्र नमन पायल, तुषार बिरला व सचिन पुरोहित तथा साहिल रिकोला, आशीष नेगी व आयुष सकलानी की टीम संयुक्त रूप से द्वितीय जबकि अभिषेक रावत, मयंक पोखरियाल, सागर पुंडीर व अमन सिंह की टीम तृतीय स्थान पर रही। इस अवसर पर आचार्य सतीश प्रसाद रतूड़ी, दिनेश सकलानी, अनीता भट्ट, वीरेंद्र गौड़, नवनीश शर्मा, देवराज बिष्ट, प्रभाकर भट्ट, सुनील कुमार राजपूत, जयेंद्र चमोली, देवीशंकर नैथानी, नरेश पुंडीर, बिशन सिंह नेगी आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *