बढ़ते ऑनलाइन कारोबार ने नैनीताल में व्यापारियों की आर्थिक स्थिति कमजोर कर दी है।

कोरोना लॉकडाउन के बाद नवरात्र व दिवाली से पहले कारोबार में बढ़ोतरी की उम्मीद थी मगर ऑनलाइन कंपनियों की बढ़ती सक्रियता ने उम्मीद पर पानी फेर दिया है। हालात की गंभीरता का आलम यह है कि व्यापारियों को इंटरनेट मीडिया में शहरवासियों के नाम बकायदा अपील जारी करनी पड़ी है कि वह व्यापार के संकटकाल में दुकानों से सामान खरीदें।

व्यापार मंडल तल्लीताल के वरिष्ठ व्यापारी रवैल सिंह आनंद समेत अन्य पदाधिकारियों की ओर से जारी अपील में कहा गया है कि कोरोना काल में स्थानीय व्यापारियों ने शहर के गरीब व जरूरतमंद लोगों को राशन समेत अन्य खाद्यान्न सामग्री का दिल खोलकर वितरण किया है। जबकि व्यापारी वर्ग भी संकट में था, अब त्योहारी सीजन में व्यापारियों की आर्थिक स्थिति को देखते हुए लोगों को शहर के व्यापारियों से ही जरूरत का सामान खरीदना चाहिए, ऑनलाइन नहीं।

मल्लीताल के रेस्टोरेंट संचालक रुचिर साह ने भी अपील जारी कर कहा है कि शहरवासियों के दुःखसुख में हमेशा व्यापारी समुदाय खड़ा रहा है। व्यापारियों को कहीं से भी संकटकाल में मदद नहीं मिली। ऐसे में शहरवासियों को समझना चाहिए कि ऑनलाइन खरीददारी से परहेज करें। यहां बता दें शहर में ऑनलाइन कंपनियों का कारोबार दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। खानपान से लेकर सजावटी समान, कपड़े, इलेक्ट्रॉनिक सामान, फर्नीचर तक लोग ऑनलाइन मंगा रहे हैं। फ्लिपकार्ट, अमेजॉन, स्नेपडील, आदि कंपनियों ने शहर में गोदाम तक खोल दिये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *